जानिए कैसा रहेगा आपका जीवन।
अपने जीवन की भविष्यवाणियां पढ़ें।

शनिश्चरी अमावस्या विशेष उपाय

"ज्योतिर्विद डी डी शास्त्री"
ॐ नमो नारायण.....चंद्रमा के घटते आकार के कारण हर माह अमावस्या तिथि आती है,प्रत्येक माह में कृष्ण पक्ष के आखिरी दिन अमावस्या पड़ती है,फाल्गुन मास की अमावस्या तिथि 13 मार्च 2021 दिन शनिवार को पड़ रही है,अमावस्या तिथि का बहुत महत्व माना जाता है और यदि यह शनिवार के दिन पड़े तो इसका धार्मिक महत्व और भी ज्यादा बढ़ जाता है,शनिवार को पड़ने वाली अमावस्या को शनैश्चरी अमावस्या कहा जाता है,शनिवार को पड़ने वाली अमावस्या तिथि साढ़े-साती और शनि ढैय्या के निवारण करने हेतु बहुत खास होती है,शनि की साढ़े-साती के बुरे प्रभावों से बचने के उपाय.!

-:'फाल्गुन शनिश्चरी अमावस्या मुहूर्त':-
शुक्रवार मार्च 12, 2021 को 15:03:19 से अमावस्या आरम्भ
शनिवार मार्च 13, 2021 को 15:50:39 पर अमावस्या समाप्त

-:यदि आप शनि ग्रह से पीड़ित हैं तो शनि अमावस्या के दिन पीपल के पेड़ की जड़ में जल अर्पण और पूजा करें,इससे शनि के प्रभावों से मुक्ति प्राप्त होती है,इसके अलावा शनिदेव को शमी का पेड़ अति प्रिय है,शनि अमावस्या पर शनि दोषों से मुक्ति पाने के लिए शमी के पेड़ के पास सरसों के तेल का दीपक प्रज्वलित करें.!

-:शनिदेव के परकोप से बचने के लिए हनुमान जी की पूजा बहुत लाभकारी मानी जाती है,शनैश्चरी अमावस्या के दिन हनुमान जी को लाल सिंदूर अर्पित करें और हनुमान जी की पूजा करें,इससे शनि साढ़े साती के बुरे प्रभावों से मुक्ति प्राप्त होती है.!

-:यदि आपके ऊपर शनि की साढ़े-साती, ढैय्या चल रही है या फिर किसी भी प्रकार के शनिदोष से पीड़ित हैं तो शनैश्चरी अमावस्या पर शनि देव के समक्ष तिल के तेल का दीपक प्रज्वलित करें और धूप जलाएं,इसके बाद उन्हें नीले रंग के अपराजिता फूल अर्पित करें,तत्पश्चात आसन लगाकर शनिदेव के इस मंत्र का तीन माला जाप करें..!

''ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनिश्चराय नम:''

-:शनि अमावस्या के दिन शनि देव को सरसों का तेल अर्पित करें और इस दिन काले कुत्ते या काली गाय को सरसों चुपड़ी हुई रोटी खिलाएं,इसके अलावा शनिदेव को शांत करने के लिए शनि अमावस्या के दिन सवा लीटर सरसों के तेल की बोतल शनि मंदिर में रख आएं,लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि इसके बाद पीछे न मुड़कर न देखें और सीधे घर वापस आ जाएं..!

नोट :- अपनी पत्रिका से सम्वन्धित विस्तृत जानकारी अथवा ज्योतिष,अंकज्योतिष,हस्तरेखा,वास्तु एवं याज्ञिक कर्म हेतु सम्पर्क करें...!